Border Gavaskar Trophy Kuldeep Yadav can win India the match against Australia | बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द बना ये खिलाड़ी, भारत को अकेले जिता सकता है मैच

Border Gavaskar Trophy Kuldeep Yadav can win India the match against Australia | बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द बना ये खिलाड़ी, भारत को अकेले जिता सकता है मैच


Image Source : GETTY
Border Gavaskar Trophy

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच नौ फरवरी से नागपुर में शुरू होने जा रहा है। इस सीरीज में ऐसा माना जा रहा है कि स्पिन गेंदबाजों का बोल बाला रहेगा। ऐसे में भारतीय स्पिन गेंदबाज इस सीरीज में कुछ बड़ा कमाल कर सकते हैं। इस सीरीज में भारत का एक खिलाड़ी ऐसा है जो अकेले अपने दमपर मैच पलट या जितवा सकता है। इस खिलाड़ी ने अपनी गेंदबाजी से पिछले कुछ समय में सभी को इंप्रेस किया है। यह खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि कुलदीप यादव हैं। सभी प्रारूपों में अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद, कुलदीप यादव को पिछले कुछ वर्षों में विभिन्न कारणों से राष्ट्रीय टीम में खेलने का पर्याप्त मौका नहीं मिला है।

लेकिन अपनी पूरी ताकत के साथ चाइनामैन स्पिनर 9 फरवरी से शुरू होने वाली बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत का ट्रम्प कार्ड या एक्स-फैक्टर बनने के लिए तैयार है। 2019 में सिडनी में पांच विकेट लेने के बाद, तत्कालीन मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कुलदीप को विदेशी परिस्थितियों में भारत का नंबर 1 स्पिनर करार दिया था, लेकिन इससे उन्हें नियमित मौके नहीं मिले। बीच में, उन्होंने सितंबर 2021 में एक सर्जरी भी करवाई और मैदान से बाहर हो गए। लेकिन जैसा कि कहा जाता है, कुछ भी हमेशा के लिए नहीं रहता, ऐसा ही कुलदीप का खराब फॉर्म था।

कुलदीप ने की शानदार वापसी

कुलदीप ने अपने एक्शन में सुधार किया, जिससे उन्हें और अधिक ड्रिफ्ट और डिप करने में मदद मिली। रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ के नए भारतीय टीम प्रबंधन के तहत, वह धीरे-धीरे लेकिन लगातार योजनाओं में फिट बैठने लग गए हैं। उन्हें दिल्ली कैपिटल्स में एक नई आईपीएल टीम भी मिली, जहां वे युवा कप्तान ऋषभ पंत के नेतृत्व में सफल रहे। हालांकि, एक सफल आईपीएल 2022 के बाद, जहां उन्होंने 14 मैचों में 21 विकेट लिए, स्पिनर को एक बार फिर चोट के कारण बाहर रहना पड़ा।

टेस्ट में कैसा है रिकॉर्ड

कुलदीप इन इंजरी से डरे नहीं और शानदार वापसी करते हुए अपने सभी सुधारों के साथ, पिछले साल दिसंबर में बांग्लादेश में सीरीज में खेले गए एकमात्र टेस्ट में अपने पांच विकेट के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार जीता था। हालांकि, उन्हें दूसरे टेस्ट के लिए प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली, जो कि कुलदीप के साथ ऐसा कई सालों से हो रहा है। कुलदीप के टेस्ट रिकॉर्ड पर एक नजर डालें तो उन्होंने 8 मैचों में 21.56 की औसत से 34 विकेट लिए हैं। कुलदीप भारतीय जमीन पर और भी कारगर साबित हो सकते हैं।

यह भी पढ़े-

Latest Cricket News



Source link

Leave a Reply