Ajab gajab amazing video this stone ring can break hand weight lifters wrestlers take naal challenge what is this

Ajab gajab amazing video this stone ring can break hand weight lifters wrestlers take naal challenge what is this


रिपोर्ट : आकाश गौर

मुरैना. इस अजीबोगरीब चैलेंज को जीतने पूरे चंबल क्षेत्र के दिग्गज पहलवान करहधाम पहुंचते हैं. मुरैना जिला मुख्यालय से 18 किलोमीटर दूर करहधाम मंदिर पर हर साल सात दिवसीय ‘सिय-पिय मेले’ का आयोजन होता है. इस दौरान कई तरह की देसी स्पर्धाएं भी होती हैं. इनमें सबसे लोकप्रिय है, नाल उठाने का मुकाबला. करहधाम में चंबल के साथ ही अन्य राज्यों से भी बड़े-बड़े पहलवान अपनी ताकत का लोहा मनवाने पहुंचते हैं. हालांकि ज्यादातर पसीना बहाने के बाद भी असफल होकर लौटते हैं. जो विजयी हो जाता है, उसका क्षेत्र में डंका बजने लगता है.

चैलेंज नाल को एक हाथ से उठाने का होता है, दरअसल यह छल्ले के आकार का भारी भरकम पत्थर होता है. पहलवान इस छल्ले के छेद में हाथ डालकर इसे उठाने का प्रयास करता है. करहधाम में होने वाली नाल प्रतियोगिता में नन्हे पहलवानों से लेकर युवा पहलवानों के लिए 35 किलोग्राम से लेकर 200 किलो ग्राम तक वजनी नाल मौजूद है. पहलवान उन नालों को उठाने का बारी-बारी से प्रयास करते हैं. यह रोमांचक प्रतियोगिता देखने सैकड़ों की संख्या में दर्शक मौजूद रहकर पहलवानों का हौसला अफजाई करते हैं.

कैसे उठाई जाती है नाल?

इस नाल को उठाने के लिए पहले काफी प्रैक्टिस की आवश्यता होती है. जैसा कि आप वीडियो में देख सकते हैं नाल को आप एक हाथ से उठाने के बाद ऊपर की ओर खीच देंगे तो यह नाल तो ऊपर पहुंच जाएगा पर ज्यादा वजनी है तो आपको अपने घुटने के बल नीचे बैठना पड़ेगा. नाल उठाते समय लाठी का सहारा लिया जाता है. कुछ पहलवान लाठी का सहारा नहीं भी लेते. यह भी दिलचस्प है कि नाल उठाने से पहले पहलवान अपने हाथ पर डामर लगा लेते हैं, इससे पकड़ अच्छी बन जाती है और नाल के हाथ से फिसलने का डर नहीं रहता.

पहलवान संदीप सिंह गुर्जर ने बताया नाल उठाने के लिए पहलवान साल भर मेहनत करते हैं, उसके बाद ही चैलेंज एक्सेप्ट करने करहधाम पहुंचते हैं. थोड़ी सी भी गलती खतरनाक साबित हो सकती है. गलत तरीके से नाल उठाने पर कलाई टूटने या गिरते समय सावधानी न होने पर गंभीर चोट की आशंका रहती है.

Tags: Morena news, OMG Video



Source link

Leave a Reply